छठी बैठक में प्राधिकरण का वर्ष 2020-21 के बजट प्रस्तावों को स्वीकृति दी

0
92
चंडीगढ़, 17 मार्च 2020,  हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल अध्यक्षता में गुरूग्राम के लोक निर्माण विश्रामगृह में संपन्न हुई गुरूग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की छठी बैठक में प्राधिकरण का वर्ष 2020-21 के बजट प्रस्तावों को स्वीकृति दी गई। कल देर सायं हुई इस बैठक में बताया गया कि वर्ष 2020-21 में जीएमडीए द्वारा विभिन्न मदो में 1608.83 करोड़ रूपए खर्च किए जाएंगे जबकि उसे विभिन्न आय स्त्रोतो से 1173 करोड़ रूप्ए की आमद होगी। इस लिहाज से 435.83 करोड़ रूप्ए का जो अंतर आया है उसे ईडीसी से पूरा करने की कोशिश की जाएगी। जीएमडीए के गठन के बाद इसके अधिसूचित क्षेत्र में टाउन एण्ड कंट्री प्लानिंग विभाग द्वारा जो ईडीसी लिए गए हैं, उनसे इस घाटे की पूर्ति की जाएगी, जोकि लगभग 2700 करोड़ रूप्ए बनता है।
आज पारित किए गए बजट प्रस्तावों में दर्शाया गया है कि जीएमडीए को लगभग 250.52 करोड़ रूपए की राशि सैस तथा चार्जिज से मिलेगी। इसमें मुख्य रूप से पानी के बिल तथा वॉटर टैंक चार्जिज से ही 249.22 करोड़ रूपए की आय होगी। इसके अलावा, लगभग 40 लाख रूपए की आय जीएमडीए स्पोर्टस स्टेडियम (ताऊ देवीलाल स्टेडियम सैक्टर-38) की बुकिंग से प्राप्त होंगे तथा लगभग 90 लाख रूपए की राशि टैऊफिक मैनेजमेंट से मिलेगी। इसी प्रकार, लगभग 250 करोड़ रूप्ए की राशि फीस तथा स्टाम्प ड्यूटी से प्राप्त होगी और 627.48 करोड़ रूप्ए की राशि एक्सटरनल  डिवलेपमेंट चार्जिज के रूप में मिलेगी। यही नहीं, पिछले वित्त वर्षों की ईडीसी भी लगभग 20 करोड़ रूपए मिलने का अनुमान है और लगभग 25 करोड़ रूपए बैंको में जमा राशि से ब्याज के रूप में मिलेंगे।

बैठक में निर्णय लिया गया कि स्टाम्प ड्यूटी का एक प्रतिशत भाग जीएमडीए को आने वाली एक अपै्रल से ही मिलना शुरू हो जाएगा। इसके लिए राजस्व विभाग द्वारा जल्द ही अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। बताया गया कि 627.48 करोड़ रूपए की ईडीसी राशि टाउन एण्ड कंट्री प्लानिंग विभाग द्वारा दी जाएगी। इसमें लगभग 105 करोड़ रूपए की ईडीसी राशि वित्त वर्ष 2019-20 की भी शामिल है, जिसकी रिक्वरी लंबित है। जीएमडीए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वीएस कुण्डु ने बताया कि प्राधिकरण द्वारा नगर निगम गुरूग्राम से 500 करोड़ रूपए की राशि लेकर कुछ प्रोजेक्ट शुरू किए गए हैं। ईडीसी की राशि मिलने के बाद एमसीजी को यह राशि लौटा दी जाएगी।

अपने खर्चो में जीएमडीए द्वारा 528.21 करोड़ रूप्ए की राशि कैपिटल वर्कस पर खर्च की जानी दर्शाई गई है जिसमें 338.26 करोड़ रूप्ए इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने पर, 100.95 करोड़ रूप्ए मोबिलिटी मैनेजमेंट, 15.50 करोड़ रूपए शहरी पर्यावरण पर तथा 73.50 करोड़ रूप्ए की राशि सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च होगी। इसके अलावा, 522.48 करोड़ रूपए की राशि ईडीसी आधारित कार्यो पर खर्च किए जाएंगे। यही नही, 495.30 करोड़ रूपए की राशि आपे्रशन्स और मैन्टेनेन्स पर खर्च होगी जिसमें 244.77 करोड़ रूपए सडक़ो के रखरखाव पर पर 250.53 करोड़ रूपए की राशि पेयजल आपूर्ति, सीवरेज तथा डेऊनेज पर खर्च करने का प्रस्ताव है। लगभग 48.72 करोड़ रूपए की राशि स्थापना व प्रशासन पर, 9.12 करोड़ रूपए जीआईएस पर तथा 5 करोड़ रूप्ए की राशि अन्य कार्यों पर खर्च होगी।
आज की इस बैठक में जीएमडीए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वी एस कुंडु के अलावा, पर्यावरण विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव धीरा खण्डेलवाल, गुरूग्राम की मेयर मधु आजाद, सीनियर डिप्टी मेयर प्रोमिला कबलाना, डीएलएफ से राजीव सिंह, सोहना के विधायक संजय सिंह, पटौदी के विधायक सत्यप्रकाश जरावता, जिला परिषद अध्यक्ष कल्याण सिंह चैहान, पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकिल, उपायुक्त अमित खत्री, नगर निगम आयुक्त विनय प्रताप सिंह उपस्थित रहे जबकि बिजली निगमों के अतिरिक्त मुख्य सचिव टी सी गुप्ता, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टी वी एस एन प्रसाद तथा टाउन एण्ड कंट्री प्लानिंग के प्रधान सचिव ऐ के सिंह ने वीडियों कान्फें्रसिंग के माध्यम से चण्डीगढ से इस बैठक में भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here