पंडित जी कहते हैं! अरे…कांग्रेसियों विरोध करने की बजाय, भाजपाइयों से राजनीति सीख लो

0
599
डड्डूमाजरा सरकारी डिस्पेंसरी पर लहराए भाजपाई झंडे, होगा विरोध
राज सिंह
चंडीगढ़ 20 मार्च 2021। राजनीतिक पंडितों की मानें तो शहर के कांग्रेसियों में यह आदत बन गई है कि अपने आका और आउट डेटेड नेता की चमचागिरी करते करते अपनी राजनीतिक करियर ही समाप्त कर लेते हैं। इनकी कभी भी ऐसी सोच नहीं बन पाई कि कार्यकर्ता को देश का नेता बनाया जाए। शहर के कांग्रेसी इस सोच से भी कभी ऊपर नहीं उठ पाए कि आउट डेटेड हो चुके नेता को आज भी कांग्रेस पार्टी से ऊपर मानते है। राजनीतिक पंडितों का कहना है कि कभी भी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को यह सिखाया ही नहीं गया कि पार्टी मां होती है और कितने ही बड़े नेता हों वह पार्टी से हमेशा छोटा ही होता है। यही कारण है कि आज तक चंडीगढ कांग्रेस में दूसरी लाइन का एक भी नेता उभर या पनप नहीं पाया। पंडित जी कहते हैं कि अब समय आ गया है कि कांग्रेसी कार्यकर्ता अपने आपको पहचानें और कांग्रेस से नहीं तो कम से कम भाजपाइयों से ही सही, कुछ सीख ले लें। यही कारण है कि आजतक राजनीतिक तौर पर कोई भी कांग्रेसी नेता जीरकपुर सीमा पार कर दिल्ली नहीं जा पाए।

शहर में वैक्सीनेशन को लेकर प्रशासन को मदद करने के नाम पर भाजपा ने अपने प्रचार प्रसार का अनोखा राजनीतिक तरीका अपना लिया है। हालांकि इसको लेकर कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि भाजपा अपनी मनमानी करते हुए सरकारी संसाधनों का राजनीतिक लाभ के इस्तेमाल कर रही है। चंडीगढ़ कांग्रेस का कहना है कि शनिवार से कुछ दिन पहले चंडीगढ़ भाजपा ने कोरोना वैक्सीन के लिए अपने कार्यकर्ताओं को सीनियर सिटीजन को वैक्सीन के लिए घर से लाने की बात कही थी। इसके विरोध में कांग्रेस ने रविवार को डड्डूमाजरा डिस्पेंसरी के सामने प्रदर्शन का भी ऐलान किया है।
उन्होंने कहा कि अब स्थिति यह है कि भाजपा को जनता ने नकार दिया और अब भाजपा ओछी राजनीति पर उतर आयी है। सरकारी डिस्पेंसरियां में अपने झंडे लगाना कानूनों के खिलाफ है। वहीं दूसरी ओर प्रशासन भी आंखें मूंदकर भाजपा के हाथ की कठपुतली बना हुआ है। कांग्रेस ने साफ कर दिया कि यदि भाजपा और प्रशासन के खिलाफ एक बार फिर से मोर्चा खोला जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here