प्रशासक के नए एडवाइजर धर्मपाल ने किया ज्वाइन, सामने की होंगी कई चुनौतियां

0
385
Dharam Pal, IAS, Adviser to the Administrator, UT, Chandigarh reviewing the COVID-19 situation in the city at U.T. Secretariat, Chandigarh

चंडीगढ़ 23 jun 2021। प्रशासक के नए एडवाइजर के रूप में आईएएस धर्मपाल ने बुधवार को ज्वाइन कर लिया है। गेस्ट हाउस में गृह सचिव अरुण कुमार गुप्ता, वित्त सचिव विजय नामदेव राव जड़े समेत सभी अधिकारी पहुंचे और धर्मपाल को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद वे सेक्टर-9 स्थित सेक्रेटेरिएट में अपने दफ्तर पहुंचे और अपना चार्ज लिया। ज्वाइनिंग के पहले दिन धर्मपाल ने अलग.अलग डिपार्टमेंट्स के अधिकारियों की मीटिंग्स रखी हैं। धर्मपाल ने कहा कि उनका पहला लक्ष्य चंडीगढ़ में हेल्थ, एजुकेशन और इफ्रास्ट्रक्चर को वर्ल्ड क्लास बनाना रहेगा।

ध्यान रहे कि एडवाइजर धर्मपाल ने बैचलर डिग्री चंडीगढ़ से की है। ऐसे में माना जा रहा है कि शहर की बेहतरी के लिए एडवाइजर काफी बढचढकर काम करेंगे। यहां यह भी बताना जरूरी है कि 1988 बैच के धर्मपाल-2017 से अभी तक मिनिस्ट्री ऑफ केमिकल एंड फर्टिलाइजर में बतौर एडिशनल सेक्रेटरी नियुक्त थे। ये शहर उनके लिए नया नहीं है। अपनी कॉलेज लाइफ उन्होंने यहीं पर गुजारी है। मूलरूप से पंजाब के बंगा के धर्मपाल ने वर्ष 1981.1985 तक बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी ;इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्युनिकेशन सेक्टर.12 स्थित पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज से की है।

नए एडवाइजर के लिए चंडीगढ़ में पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन के प्रोजेक्ट को सिरे चढ़ाना बड़ी चुनौती होगा क्योंकि पिछले कोई भी अफसर इसको लेकर कुछ खास नहीं कर सका। इसके बाद बिजली विभाग के निजीकरण को लेकर भी एडवाइजर के लिए बडी परीक्षा होगी। वहीं बडा प्रोजेक्ट इंप्लाइज हाउसिंग स्कीम का है, जिस पर अभी तक कुछ भी तय नहीं हो सका है। फिलहाल कोर्ट में भी मामला चल रहा है। प्रशासन की मकानों के रेट को लेकर अभी तक कर्मचारियों के साथ सहमति नहीं बन पाई है। तीसरा प्रोजेक्ट इलेक्ट्रिसिटी डिपार्टमेंट का प्राइवेटाइजेशन है। एक तरफ प्रशासन डिपार्टमेंट को निजी हाथों में सौंपने की पूरी तैयारी कर चुका है तो दूसरी तरफ कर्मचारी इसका विरोध कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here