हाथरस गैंगरेप व हत्या को लेकर दलित समाज का रोष मार्च, चार घन्टे सड़क जाम

0
290
Sanjiv Sharma
चंडीगड़ 11-10 -2020,  भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज व विभिन्न दलित समाज के संगठनों ने उत्तर प्रदेश के हाथरस में गत दिनों बाल्मिक समाज की बिटिया के साथ हुए गैंगरेप एक जघन्य हत्याकांड को लेकर संपूर्ण चंडीगढ़ के दलित समाज ने सैकड़ों की संख्या में इकट्ठा हो कर आदि धर्म गुरु स्वामी चंद्रपाल अनार्य की अध्यक्षता में रोष मार्च करते हुए महामहिम पंजाब के राज्यपाल व चंडीगढ़ के प्रशासक को एक मांग देने जा रहे दलित समाज के अनुनायी को चंडीगड़ पुलिस ने बत्रा सिनेमा से गॉवर्नर  हाउस जा रहे लोगो को सेक्टर 23 में रोक लिया तो दलित समाज के लोगो ने वही सड़क पर बैठ कर चार घन्टे सड़क जाम कर दी और पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा मामला शांत होने पर दलित समाज के लोगो का एक डेलिगेशन जिसमे  स्वामी चन्दर पाल अनार्य, श्री नरेंद्र चौधरी,श्री कृष्ण चढ़ा, श्री सत्यवान सरोहा, श्री प्रेम पाल चुहान श्रीमति बबिता, श्री ओम प्रकाश सैनी,ने गॉवर्नर हाउस जाकर गॉवर्नर में श्री खुसकर्ण सेकेट्री टू गॉवर्नर को प्रधानमंत्री के नाम एक मेमोरेंडम दिया गया। स्वामी चंद्रपाल अनार्य ने मार्च को संबोधित करते हुए कहा कि बिटिया की मां कहती रही कि रात भर रुक जाओ बेटी कोहल हल्दी बगैरा लगवानी होती है बिटिया से लौटकर नहीं आएगी अंतिम संस्कार सम्मान के साथ करने दो, लेकिन खुद को हिंदू संस्कृति के रखवाले बोलने वालों ने परिवार के किसी भी सदस्य की नहीं सुनी और रात के अंधेरे में बिटिया का शव परिवार को दिखाए बिना उन्होंने बिटिया के शव को बड़ी बहरामी से पेट्रोल डालकर वहां की पुलिस प्रशासन ने हंसते-हंसते बिटिया को पेट्रोल डालकर वहां की पुलिस प्रशासन ने जला दिया यह कैसी क्रूरता है यह कैसे उत्तर प्रदेश का कानून है किस बात का डर था कि जो रात को अंतिम संस्कार करना पड़ा.

श्री नरेंद्र चौधरी अध्यक्ष  भवाधास चंडीगड़ ने अपने संबोधन में कहा कि जब प्रियंका रेड्डी हैदराबाद की बिटिया के बलात्कारियों का एनकाउंटर हो सकता है तो हाथरस की बिटिया मनीषा के बलात्कारियों का एनकाउंटर क्यों नहीं हो सकता और कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार से हम दलित समाज की ओर से मांग करते हैं कि जिन वहशी दरिंदों ने हाथरस की बिटिया के साथ गैंगरेप करने के बाद मौत के घाट उतार दिया उन दोषियों को फांसी की सजा होनी चाहिए और जिन अधिकारियों ने इस जघन्य अपराध में दोषियों की मदद की है। चाहे वहा का डीएम हो या एसपी हो या थाना कोतवाल हो इन सब की विभागीय जांच करवाई जाए और इन सभी पर मामला दर्ज किया जाए।श्री चौधरी ने कहा कब तक इस तरह बहन बेटीया की इज्जत तार तार होती रहेगी।

श्री चौधरी ने माननीय देश के प्रधानमंत्री से मांग की है कि उत्तर प्रदेश के हाथरस की बिटिया के साथ हुए गैंग रेप के बाद मोत के घाट उतार दिए जाने के मामले को गंभीरता से हस्तक्षेप करते हुए जाँच करवा कर दोशियों को फांसी दिलवाई जाए ताकि दलित समाज मे पैदा हुए अक्रोश को देश की न्याय प्रणाली पर भरोसा बना रहे। इस रोष प्रदर्शन में कृष्ण चढ़ा अध्यक्ष सफाई कर्मचारी यूनियन, अजय कुमार अध्यक्ष शिव सेना,पंडित राज बहादूर अध्यक्ष हिन्दू सुरक्षा समिति,जगन राम,लक्ष्मण कांगड़ा,श्री सूरत सिंह,श्रीमति शीला फूल सिंह पार्षद, हरफूल सिंह कल्याण पूर्व मेयर,ज्योति हँस,सुबाष सूद,धर्मिन्दर सूद,अनिल कुमार,अनित बागड़ी, जोनि कुमार,रणबीर बोहत, अमित सिहान,अजमेर सिंह,सुबाष तमोली, रवि अटवाल,मुकेश  कांगड़ा, रविंदर,  नवीन कुमार,रविन्द्र, सूद,किरण गहलोत,रत्न अध्यक्ष युथ भावाधस, सचिन बदमाजरा,आदि मुख्य रूप से शामिल हुए।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here