देश के माहौल को खराब करने वालों के बहकावे में न आयें: टंडन

0
1034

चंडीगढ़ 18 दिसम्बर, 2019 : भारतीय जनता पार्टी चंडीगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन ने चंडीगढ़ में रहने वाले अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों से अपील करते हुए कहा है कि वे नागरिकता संशोधन एक्ट पर किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया देने से पहले उस एक्ट को पढ़ लें. यह एक्ट किसी भी प्रकार से अल्पसंख्यकों के खिलाफ नहीं है.

उन्होंने कहा कि देश के गृह मंत्री अमित शाह ने इस एक्ट में शामिल सभी पहलुओं को विस्तार पूर्वक बताया है और उन्होंने बहुत ही कड़े शब्दों में कहा है कि इस एक्ट के माध्यम से किसी भी अल्पसंख्यक समुदाय को 1 प्रतिशत भी नुक्सान नहीं है. यह एक्ट तो उलटे पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफ़ग़ानिस्तान से आये अल्पसंख्यकों के हितों को ध्यान में रख कर बनाया गया है. देश में रहने वाले अल्पसंख्यकों का इस एक्ट से कोई लेना देना नहीं है. यह एक्ट किसी से कुछ छीन नहीं रहा उल्टा उपरोक्त देशों से आये हुए अल्पसंख्यक शरणार्थियों को हक देने वाला बिल है. उन्होंने कहा कि यह हमारा दुर्भाग्य है कि कुछ राजनेता इस एक्ट की आड़ में अपनी राजनैतिक रोटियां सेंकने में लगे हैं. देश में अमन, शांति और भाईचारे के माहौल को खराब करने की कोशिश कर रहे हैं. हमें ऐसे लोगों की झूठी बातों में नहीं आना चाहिए और देश में भाईचारे का माहौल खराब करने वालेलोगों से बचना चाहिए.उन्होंने चंडीगढ़ में रह रहे सभी अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों से प्रार्थना और अपील करते हुए कहा कि इस बिल को वे अवश्य पढ़ें और जाने कि इस बिल के माध्यम से किसी समुदाय का कोई नुक्सान नहीं है. उन्हें इस बिल कोलेकर झूठी अफवाह फैलाने वाले लोगों की बातों में आने से बचना चाहिए और शहर में अमन और शांति और भाईचारे के माहौल को पहले की भाँती बनाये रखना चाहिए.

उन्होंने कहा कि हाल ही में देश के कई इलाकों में हुई आगजनी और तोड़फोड़ के पीछे कौन कौन सी राजनैतिक पार्टियों के नेता हैं वो सब सामने आ रहा है. कानूनको अपने हाथों में लेकर सार्वजनिक संपत्ति को नुक्सान पहुंचाने वाले आरोपियों को बख्शा नहीं जाना चाहिए. इस प्रकार से वे देश की सार्वजनिक सम्पत्ति को नुकसान पहुंचा कर हमारा ही आर्थिक नुक्सान कर रहे हैं. आखिर कब तक यह लोग ऐसे ही जनता को बरगलाते रहेंगे और देश के माहौल को खराब करते रहेंगे. देश की जनता पढ़ी लिखी और समझदार है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here