चंडीगढ़ मेयर कालिया ने मनवाया लोहा, मिला ग्रांट 93 करोड़ 50 लाख

0
1313
संजीव शर्मा
(ब्यूरो चीफ)

चंडीगढ़ 25 NOV 2019। मेयर राजेश कालिया ने अपनी ओर से एक बार फिर से सभी को लोहा मनवाने का काम कर दिया है। मेयर के प्रयास से प्रशासन ने सोमवार को 93 करोड़ 50 लाख रुपए का ग्रांट एमसी को जारी कर दिया गया। प्रशासन से ग्रांट जारी होने से फिलहाल एमसी की करीब करीब कंगाली दूर हो गई है। इस सूचना के बाद से मेयर को लगातार पार्षदों एवं वेलफेयर एसोसिएशनों की ओर से बधाई मिल रही है। क्योंकि मेयर कालिया का कोई गॉड फादर न होते हुए भी 150 करोड़ में से 93 करोड़ से अधिक पैसा ले आना बहुत बड़ी बात मानी जा रही है। कालिया से पहले अब तक जितने भी मेयरों ने ग्रांट लाने में सफलता पाई है। उसमें मेयर का कम और उनके गॉड फादरों का रोल ज्यादा माना जाता रहा है। वहीं दूसरी ओर मेयर कालिया ने प्रशासक वीपी सिंह बदनोर का धन्यवाद करते हुए कहा कि उनके प्रयास से शहर में विकास की गति तेज हुई है।

प्रशासन से जारी इन पैसों का उपयोग सैलरी, सड़कों, रोज फेस्टिवल, 26 पार्षदों को एक एक करोड़ अतिरिक्त फंड देने के अलावा अन्य विकास कार्यों पर खर्च करने की योजना है। इस प्रकार से मेयर राजेश कालिया ने अपनी वर्किंग से सभी को सोचने के लिए मजबूकर दिया है कि अब तक सफल मेयरों में उनका नाम लिया जाएगा। ध्यान रहे कि पिछले दिनों जब मेयर कालिया के नेतृत्व में पार्षदों की टीम प्रशासक वीपी सिंह बदनोर से मिलने राजभ वन गए थे, तब प्रशासक बदनोर ने 150 करोड़ देने को लेकर हामी भरी थी। उसमें से उक्त पैसे पहली किस्त के तौर पर जारी किया गया है।

यहां बताना जरूरी है कि कुछ समय से एमसी पूरी तरह से कंगाल हो चुका है। पिछले दिनों एमसी के अकाउंट में पैसे नहीं होने के कारण निकासी पर रोक लगा दी गई है। वहीं एमसी की एफडी में करीब 15 करोड़ ही बचे हैं। ऐसे में एफडी को तोड़ने पर भी रोक है। ऐसे समय में प्रशासन से ग्रांट के रूप में 93 करोड़ 50 लाख का आज जारी होना न सिर्फ एमसी के लिए बल्कि मेयर की क्षमता को भी आंकने के लिए काफी माना जा रहा है। इस बीच कई पार्षदों ने मेयर को बधाई देते हुए कहा कि अब रूके हुए विकास कार्यों में तेजी आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here