चंडीगढ़ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष छाबड़ा के हटते ही पार्टी के अंदर घमासान उफान पर

0
1011
मोदी के कांग्रेस मुक्त भारत को कोई बचा नहीं सकता:कार्यकर्ता
राज सिंह
चंडीगढ़ 12 फरवरी 2021। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से प्रदीप छाबड़ा के हटने के बाद से ही पार्टी के अंदर घमासान शुरू हो गया है। पूर्व सांसद व काँग्रेसी नेता पवन कुमार बंसल पर भी असंतुष्ट हो चुके कार्यकर्ता बेहद हमलावर हो चुके हैं। प्रदीप छाबड़ा के पद से हटने के बाद से असंतुष्ट कार्यकर्ताओं ने साफ कर दिया कि पार्टी के अंदर लोकतंत्र खत्म हो चुका है। इस प्रकार से पार्टी को मजबूत करना है तो तुरंत धक्काशाही बंद हो। असंतुष्टों ने कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी से मांग की है कि कार्यकर्ताओं का मनोबल तोड़ने वाले नेताओं को पार्टी से बाहर निकाला जाए। अन्यथा मोदी के कांग्रेस मुक्त भारत को कोई बचा नहीं सकता है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस की आंतरिक कलह और भी बढ़ने की आशंका है।

चंडीगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष पद में बदलाव पर ब्लॉक अध्यक्ष हरजिंदर सिंह बावा ने हैरानगी वाला फैसला करार करते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा को बदल कर सुभाष चावला हो उस वक्त बनाया गया जब नगर निगम बिल्कुल नज़दीक आ चुका है। बाबा ने कहा कि या तो अध्यक्ष को पहले ही बदल दिया जाता या फिर नगर निगम चुनाव के बाद बदला जाता। पैंतीस वार्ड होने के बाद व नगर निगम चुनाव को लगभग आठ महीने बचे है जहां चुनाव लड़ने वालों ने अपने अपने एरिया में तैयारी शुरू कर दी थी वहीँ एक दम से बदलाव ने हैरान के साथ सबको सकते में डाल दिया है।

राष्ट्रीय कांग्रेस का हर आदेश सर्वपरि है लेकिन चुनावी वर्ष में ऐसा फैसला कहीं पार्टी को नुकसान ना पहुंचा दे। कांग्रेस के नेता व कार्यकर्ता पिछले कई वर्षों से बीजेपी के हर जनविरोधी फ़ैसलों का डटकर विरोध करते आ रहे है चाहे वो केंद्र सरकार के होए प्रशासन के हों या नगर निगम के हो। समय के अनुरूप ऐसा फैसला ना होना कहीं कार्यकर्ताओं का मनोबल ना तोड़ दे।

ध्यान रहे कि प्रदीप छाबड़ा के चंडीगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटने के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता सुभाष चावला को अध्यक्ष बनाया गया है। छाबडा को पद हटाने की शैली को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं में खासकर पवन कुमार बंसल पर जबर्दस्त गुस्सा है। इसका असर न सिर्फ एमसी चुनाव में बल्कि एमपी चुनाव में भी पड़  सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here