चंडीगढ मेयर चुनाव! सुप्रीम कोर्ट ने गठबंधन के आरोपों पर लगाई मोहर, चुनाव अधिकारी अनिल मसीह को फटकार

0
626

आखिर जीत सत्य की ही होगी, लोकतंत्र सर्वोपरि – पवन बंसल
कुमार मधुकर
चंडीगढ़। पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन कुमार बंसल ने जारी बयान में कहा कि मेयर चुनाव को लेकर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट की सख्त टिप्पणी सामने आई। चुनाव अधिकारी अनिल मसीह को सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई। चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा- यह स्पष्ट है कि उन्होंने बैलेट पेपरों को विकृत किया। क्या वह इसी तरह चुनाव आयोजित करते हैं? यह लोकतंत्र का मजाक है। यह लोकतंत्र की हत्या है। इस अफसर पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए। कांग्रेस के पूर्व सांसद पवन बंसल ने इसे सत्य की जीत करार दिया है, “जब हमने ऐसे आरोप लगाए थे तो भाजपा अपने पाक-साफ होने का दम भर रही थी, अब कहाँ गयी भाजपा की शराफ़त? भाजपा ने लोकतांत्रिक मूल्यों दी धज्जियाँ उड़ाते हुए मेयर चुनाव जीतने का षड्यंत्र रचा था, जो पहले जनता की अदालत में नंगा हुआ, और अब कानून की अदालत में। भाजपा को अपने इस कृत्य पर पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए।“ सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया कि मेयर चुनाव के बैलेट पेपर, वीडियोग्राफी समेत पूरे रिकॉर्ड को जब्त कर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट रजिस्ट्रार जनरल के पास रखा जाए, इसके साथ कोर्ट ने निर्देश दिया कि चंडीगढ़ निगम की आगामी बैठक स्थगित रहेगी। आप-कांग्रेस के मेयर पद के संयुक्त कैंडिडेट कुलदीप कुमार ने यह याचिका दायर की है। जिसमें उन्होंने भाजपा के नए चुने मेयर मनोज सोनकर को हटाकर दोबारा चुनाव की मांग की गई है। याचिका में दलील दी गई कि चुनाव अधिकारी अनिल मसीह ने वोटों की गिनती में हेराफेरी की है।

कांग्रेस के अध्यक्ष एचएस लक्की ने कहा
चंडीगढ़ प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष एच एस लक्की ने चंडीगढ़ मेयर चुनाव पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है, जिसमें उन्होंने मेयर चुनाव से संबंधित पूरे रिकॉर्ड को सील करने का आदेश दिया है, पीठासीन अधिकारी को अपने आचरण की व्याख्या करने के लिए शीर्ष अदालत में उपस्थित होने के लिए बुलाया है और चंडीगढ़ नगर निगम की इस महीने की 7 तारीख को होने वाली बैठक रद्द कर दी गई है। सुप्रीम कोर्ट ने पीठासीन अधिकारी और चुनाव कराने के तरीके पर भी सख्त टिप्पणियां कीं। लक्की ने कहा कि चंडीगढ़ के लोग न्याय के लिए सुप्रीम कोर्ट की ओर देख रहे थे और आज के फैसले ने न्यायिक प्रणाली और कानून की प्रक्रिया में आम आदमी के विश्वास को और मजबूत किया है। हमें पूरी उम्मीद है कि न्याय और सत्य की जीत होगी।

आप नेता प्रेम गर्ग बोले
चंडीगढ़ मेयर चुनाव में आप-कांग्रेस गठबंधन के पक्ष में 20 वोट पड़े, जिनमें से 8 को फर्जी तरीके से अवैध घोषित कर दिया गया। लेकिन इन सबके बीच अच्छी बात यह रही कि बीजेपी वोट चुराते हुए पकड़ी गई,” अब चाहे चोरी का नजला अनिल मसीह पर गिराया जाएगा। लेकिन इस चोरी से भाजपा की मंशा जग जाहिर हो गई, कहना है सीनियर आम आदमी पार्टी के नेता प्रेम गर्ग का। प्रेम गर्ग ने कहा की हद तो तब हो गई जब सारे आम चोरी करने के बावजूद भाजपा के सभी नेता चोरी के साथ-साथ सीना जोरी भी करते नजर आए। कोई भी यह मानने को तैयार नहीं था कि उन्होंने चोरी की है और अब ये लोग मसीह को सूली पर टांग देंगे। आज के ऐतिहासिक फ़ैसले द्वारा सुप्रीम कोर्ट ने देशभर में सच्चाई व लोकतंत्र का संदेश दिया है। जिससे आने वाले लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की जीत का मार्ग प्रशस्त होगा। अब होना तो ये चाहिए कि प्रशासन आठ अवैध की गई वोटों को वैध मान कर कुलदीप कुमार को मेयर घोषित करे और कुलदीप कुमार की अध्यक्षता में सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर का चुनाव करवाये। हमें उम्मीद है कि माननीय सुप्रीम कोर्ट को जल्द से जल्द ही इस पर फ़ैसला लेगें व अनिल मसीह पर क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी।

आप पार्षद योगेश ढिंगरा की प्रतिक्रिया
आम आदमी पार्टी के वार्ड नंबर 25 के पार्षद और पूर्व नेता प्रतिपक्ष योगेश ढींगरा ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत किया और कहा की सुप्रीम कोर्ट का आदेश देशभर के लोगों का संविधान के प्रति विश्वास बरकरार रखने वाला है। पार्षद ने आगे बताया की सुप्रीम कोर्ट लोगों का संविधान के प्रति विश्वास की रक्षक बनकर आई है क्योंकि बीजेपी पार्टी तो भक्षक बन चुकी है और साथ ही पार्षद योगेश ढींगरा नें चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया धनंजय वाई चंद्रचूड़ की भी प्रशंसा करी की किस तरह चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने खुद मेल पर याचिका दायर करने को कहा वह बहुत ही काबिले तारीफ है जिसका सीधे-सीधे मतलब है कोर्ट पर लोग अभी भी भरोसा कर सकते हैं क्योंकि बीजेपी पार्टी ने तो संविधान को तार-तार कर दिया है। बीजेपी को अपनी हार बिल्कुल मंजूर नहीं थी इसलिए उन्होंने धोखाधड़ी करी और संविधान की खुलेआम धऽज़िया उड़ाई जिसका पूरा देश गवाह है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here