लंपी एक संक्रमित बीमारी इसकी रोकथाम के लिए युद्धस्तर पर तैयारी करना जरूरी: ओपी सिहाग ।

0
1875

पंचकूला ,20 अगस्त 2022: प्रदेश में गौवंश में फैल रहे लंपी संक्रमण  से निपटने बारे  गम्भीरता से चर्चा करने के लिए आज सेक्टर 12 कार्यलय में जजपा शहरी जिलाध्यक्ष ओपी सिहाग की अध्यक्षता में एक महत्वपूर्ण बैठक हुई जिसमें  पार्टी के दोनों पार्षद  सुशील गर्ग , राजेश निषाद ,वरिष्ठ नेता व  जिला पंचकूला बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के संयोजक के सी भारद्वाज व युवा जजपा नेता हीरामन  वर्मा  उपस्थित थे। जजपा जिलाध्यक्ष ने बैठक में बताया कि आज हरियाणा व पड़ोस के राज्य पशुधन पर हो रहे डंपी संक्रमण से बुरी तरह झुझ रहे  हैं तथा इसका कहर दिनप्रतिदिन बढ़ता जा रहा है।इस लंपी संक्रमण के कारण प्रदेश में लगभग 30 हजार पशु संक्रमित है जिनमे ज़्यादातर गोवंश है तथा कुछ  पशु मर भी गए हैं। पंचकूला भी इस बीमारी के कहर से अछूता नही है। पंचकूला शहर  के आस पास  भी लगभग  एक हजार के करीब गाय व नंदी है जिनमे ज्यादातर गाय व नंदी आवारा है तथा उन पर इस  बीमारी के फैलने का ज्यादा खतरा है क्योंकि यह संक्रमित पशु से दूसरे  में फैलती है।

ओपी सिहाग व सभी उपस्थित जजपा नेताओ ने इस बात पर थोड़ा बहुत संतोष व्यक्त किया कि अब राज्य सरकार ने अपनी सक्रियता बढ़ाई है,पर इस बीमारी  के संक्रमण को पूरी तरह से  रोकने के लिए युद्धस्तर पर कार्य करना होगा। जजपा जिला अध्यक्ष ने बताया कि बैठक में इस मुद्दे पर  पूरी गंभीरता से विचार विमर्श करने उपरांत यह निर्णय लिया गया कि कुछ ठोस सुझाओ के साथ जिला प्रशासन से मिला जाए ।
सिहाग ने बताया कि जिला प्रशासन व प्रदेश सरकार को इस संक्रमक बीमारी को महामारी की तरह लेना चाहिए तथा  जिले में पशुपालन विभाग व कृषि विभाग के अधिकारियों के अतिरिक्त शहरी क्षेत्र में पालिकाओं ,पब्लिक हेल्थ,पब्लिक रिलेशन एवं हैल्थ विभाग के अधिकारियों की टीमें तैयार करनी चाहिये।इन टीमो को शहरी क्षेत्र को अलग अलग जोनों में बांट कर कैटल को टीकाकरण  करने के साथ पशुपालकों व आम लोगों को इस बीमारी बारे जागरूक करके उनकी पूरी सहायता की जाए। इसी प्रकार ग्रामीण क्षेत्र में पंचायत एवं विकास विभाग ,आंगनवाड़ी ,पटवारी ,ग्राम सचिव,पशुपालन विभाग  व  कृषि विभाग के अधिकारियो की टीमें बनाई जाए जो गांवो में युद्धस्तर पर  गोवंश व भैंसो को टीकाकरण के अतिरिक्त लोगों को जागरूक भी करे।
ओपी सिहाग ने कहा कि युद्धस्तर पर टीकाकरण व संक्रमित पशुओं के इलाज के लिए पशुचिकित्सा से जुड़े सरकारी अमले के अतिरिक्त गांवो व शहरों में इस कार्य बारे प्राइवेट रूप से काम करने वाले पशु चिकित्सा से संबंधित वेटरनरी डॉक्टरों  ,कंपाउंडरो की भी सहायता ली जाये।
सिहाग ने यह सुझाव भी  दिया  कि हिसार में लाला लाजपतराय पशु चिकित्सा विश्विद्यालय से तथा रोहतक में बहुअकबरपुर में प्राइवेट पशु चिकित्सा कालेज से पिछले 9 -10  सालों से जिन  विद्यार्थियो ने पशु चिकित्सा विज्ञान से डिग्री  की है या वीएलडीए बने है तथा बेरोजगार हैं, ऐसे डिग्री धारकों को कुछ महीनों के लिए एक तय  सैलरी देकर उनकी मदद ली जाए। एक अनुमान के अनुसार ऐसे ग्रेजुएट प्रदेश में  450 के आसपास हैं। अगर उनकी ड्यूटी जिला वाइज  बनाई गई टीमो के साथ लगाई जाए तो लंपी संक्रमण  पर जल्दी से काबू पाया जा सकता है।
जजपा जिला प्रधान ने  प्रशासन व सरकार से एक नई बीमारी अफ्रीकन स्वाइन फ्लू की दस्तक से निपटने के लिए तुरंत प्रभावशाली कदम उठाने का आग्रह किया  ।उन्होंने कहा कि  यह बीमारी सुअरों में फैलनी शुरू हो चुकी है ।पंजाब व हरियाणा के कुछ क्षेत्रों में इसकी पुष्टि हो चुकी है। इस बारे जिला  पंचकूला के पशुपालन विभाग के अधिकारियों को तुरंत एक्शन मोड में आ जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here