चंडीगढ़ की राजनीति के भीष्म पितामह पूर्व केंद्रीय मंत्री हरमोहन धवन नहीं रहे, बड़ी हस्तियों ने दी श्रद्धांजलि 

0
353

कुमार मधुकर
चंडीगढ। चंडीगढ़ की राजनीति के भीष्म पितामह पूर्व केंद्रीय मंत्री हरमोहन धवन का निधन हो गया। धवन पिछले कुछ महीनों से बीमार चल रहे थे, उनका इलाज मोहाली के बडे अस्पताल में चल रहा था। जानकारी के अनुसार करीब तीन माह पहले घर की कोठी में बने अपने कार्यालय में जब जा रहे थे, तभी नीचे गिर पड़े थे, जिससे उनके कंधे में चोट आई थी। इसी चोट का इलाज मोहाली के निजी और बडे अस्पताल में चल रहा था। पिछले दिनों कुछ इंफेक्शन के कारण पुनः अस्पताल में भर्ती कराया गया था। फिलहाल इलाज चल रहा था, कि आज यानी शनिवार को देर शाम को उनकी स्थिति अचानक बिगड़ गई। डॉक्टरों टीम रिवाइव के लिए मेहनत करते रहे लेकिन भगवान के चरणों में लीन हो गए। खबर लिखे जाने तक उनके परिवार के सभी सदस्य अस्पताल में ही मौजूद थे।

शहर की प्रतिक्रियाएं 
एडिशनल सॉलिसिटर जनरल सत्यपाल जैन बोले 
हरमोहन धवन एक महान नेता थे, जिन्होंने हमेशा चंडीगढ़ के लोगों, विशेषकर समाज के वंचित वर्गों के विकास और कल्याण के लिए लड़ाई लड़ी। वह एक बहुत ही सामाजिक, विनम्र, अच्छे व्यवहार वाले, सुसंस्कृत और एक सज्जन व्यक्ति थे। चंडीगढ़ के लोग उन्हें इन गुणों के लिए आने वाले दशकों तक याद रखेंगे। वह 1989 में तत्कालीन कानून मंत्री  जगन नाथ कौशल को हराकर संसद के लिए चुने गए और केंद्र सरकार में मंत्री बने। हालांकि उस संसद का कार्यकाल लगभग 2 साल कम था, फिर भी उन्होंने एक नेता के रूप में अपनी छाप छोड़ी। मंत्री और सांसद के रूप में  जनता के जननायक हरमोहन धवन को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं और सर्वशक्तिमान ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि वह दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें और उनके सभी प्रियजनों को इस असहनीय सदमे को सहन करने के लिए पर्याप्त साहस और शक्ति प्रदान करें।
 
पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन बंसल बोले 
चंडीगढ़ के जानी-मानी शख्सियत हरमोहन धवन का निधन पूरे शहर के लिए एक महत्वपूर्ण क्षति है। उन्होंने विभिन्न क्षमताओं में शहर के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया और अपने मिलनसार स्वभाव के चलते हर शख्स उनसे जुड़ाव महसूस करता था। व्यक्तिगत रूप से, मैं उनके निधन को निजी क्षति के रूप में महसूस करता हूं, क्योंकि हमारे संबंध बेहद सकारात्मक थे और उन्होंने मेरी एक चुनावी जीत में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। मुझे खेद है कि मैं व्यक्तिगत रूप से उनसे मिलने नहीं जा सका, जिसके बारे में मैं काफी समय से सोच रहा था। उनका निधन मेरे लिए एक बड़ी व्यक्तिगत क्षति है और उनके गुणों की प्रशंसा करने वाले, उनको बड़ी संख्या में चाहने वालों के लिए भी ये एक बड़ी क्षति है। नागरिक उड्डयन मंत्री के रूप में, उन्होंने इस क्षेत्र में अपने संक्षिप्त कार्यकाल के दौरान बेहतरीन काम किया था।
कांग्रेस अध्यक्ष लक्की बोले 
हरमोहन धवन जी को हमेशा एक अच्छे सज्जन व्यक्ति के रूप में याद किया जाएगा जिन्होंने उनसे मिलने वाले हर व्यक्ति पर अपनी छाप छोड़ी।  आज चंडीगढ़ ने एक ऐसा शख्स खो दिया है जिसे हर कोई प्यार करता था।  मेरी हार्दिक संवेदनाएं परिवार के साथ हैं।’
आप नेता प्रेम गर्ग बोले
शहर की राजनीति के भीष्म पितामह हरमोहन धवन साहिब का इस दुनिया से जाना शहर वासियों व खासकर मेरे लिए बहुत बड़ी क्षति है। 2019 के लोकसभा चुनाव में हम दोनों आम आदमी पार्टी के लिए जी जान से लड़े थे। चंडीगढ़ में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो खुद को धवन साहब का आदमी न मानता हो। सेक्टर 32 का मेडिकल कॉलेज हो या फिर सेक्टर 22 की शास्त्री मार्केट सब धवन साहिब के कारण संभव हो सका। कुछ महीनो के नागरिक उड्डयन मंत्री के तौर पर शहर को विकास की ओर ले जाने वाले वाले हरमोहन धवन शहरवासियों के दिलों में राज करते थे और जहां भी जाते सभी को अपना मित्र बना लेते थे। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और चंडीगढ़ के गरीबों के मसीहा पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री हरमोहन धवन जी के निधन पर, समस्त आम आदमी पार्टी के नेता व कार्यकर्ता शोक प्रकट करते हैं और परमपिता परमात्मा से प्रार्थना करते हैं कि दिवंगत आत्मा को अपने चरणों में स्थान दे और उनके परिवार को यह दुख सहने की हिम्मत दे।
रजत मल्होत्रा बोले 
हरमोहन धवन जी को हमेशा एक अच्छे सज्जन व्यक्ति के रूप में याद किया जाएगा जिन्होंने उनसे मिलने वाले हर व्यक्ति पर अपनी छाप छोड़ी।  आज चंडीगढ़ ने एक ऐसा शख्स खो दिया है जिसे हर कोई प्यार करता था।  मेरी हार्दिक संवेदनाएं परिवार के साथ हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here